नई दिल्ली: देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में हर जरूरी कदम उठा रहे हैं. अब पीएम मोदी की कैबिनेट ने  मेंबर्स ऑफ पार्लियामेंट एक्ट, 1954 के तहत सैलरी, अलाउंस व पेंशन के अध्यादेश को मंजूरी दी है. इसके साथ ही अब सभी लोकसभा और राज्यसभा सांसदों की सैलेरी का 30 प्रतिशत हिस्सा अगले एक साल तक काटा जाएगा.

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सैलेरी का भी 30 प्रतिशत हिस्सा हर महीने अगले एक साल तक काटा जाएगा. ऐसे में क्या आपको मालूम है कि देश के प्रधानमंत्री को कितनी सैलेरी मिलती है. जब 30 प्रतिशत की कटौती होगी तो पीएम मोदी की सैलेरी कटकर कितनी आएगी. आइए जानते है इसके बारे में...

 

कितनी होती है पीएम की सैलेरी

 

देश के प्रधानमंत्री की सैलेरी हर महीने 1 लाख 60 हजार रुपये आती है.

 

कटौती के बाद कितनी होगी सैलेरी

 

अगर प्रधानमंत्री की मंथली सैलेरी 1 लाख 60 हजार से 30 प्रतिशत सैलेरी की कटौती कर दें तो हमें 48000 रुपये घटाना होगा. यानी अब हर महीने प्रधानमंत्री की सैलेरी एक लाख 12 हजार आएगी.

 

कैबिनेट का फैसला

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में सोमवार को हुई मंत्रिमंडल की बैठक में एक बड़ा फैसला लिया गया. इस बैठक में तय किया गया कि लोकसभा और राज्यसभा सांसदों की सैलेरा में से 30 फीसदी की कटौती अगले एक साल तक की जाएगी. इसका मतलब ये हुआ कि कैबिनेट ने मेंबर्स ऑफ पार्लियामेंट एक्ट, 1954 के तहत सैलरी, अलाउंस व पेंशन में संशोधन के अध्यादेश को मंजूरी दी जिसमें संसद के सभी सदस्यों का वेतन और पेंशन एक साल के लिए 30 फीसदी घटाया गया. बता दें कि यह कटौती 1 अप्रैल 2020 से लागू होगी.