कोरोना वायरस के मामले भारत समेत दुनियाभर में बढ़ते जा रहे हैं। इसको देखते हुए पूरी दुनिया की बड़ी आबादी घरों के अंदर 'कैद' है। भारत ने 30 राज्यों में लॉकडाउन कर दिया है। वहीं, तीन ऐसे राज्य हैं, जहां पर लॉकडाउन के बाद कर्फ्यू भी लागू है। पुलिस ने एनसीआर से जुड़ने वाली सभी सीमाएं पूरी तरह सील कर दीं। आवश्यक सेवाओं को छोड़कर बिना कर्फ्यू पास वाहनों को प्रवेश नहीं मिलेगा। पुलिस आयुक्त ने बताया कि जरूरी सेवाओं के लिए पहले से निर्धारित की गई छूट जारी रहेगी। धारा 144 तोड़ने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। वहीं, महाराष्ट्र ऐसा राज्य है, जहां कोरोना के मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। महाराष्ट्र में मंगलवार को कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या 100 पार कर गई।

कोविड-19 संक्रमण से ग्रसित महिला की मौत के साथ ही ऑस्ट्रेलिया में इस वायरस के कारण मरने वाले लोगों की संख्या आठ पर पहुंच गई। महिला एक क्रूज जहाज पर संक्रमण की चपेट में आई थी।

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने कोरोना वायरस खतरे के मद्देनजर सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को प्रिंट तथा इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का काम-काज जारी रहे, यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को 23 मार्च को पत्र लिख कर मंत्रालय ने कहा कि टीवी चैनल, समाचार एजेंसियों जैसी ठोस एवं जरूरी सूचना देने वाले नेटवर्क समय से और प्रमाणित सूचना पहुंचाने के बेहद आवश्यक माध्यम हैं।

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। मंगलवार को कोरोना वायरस से संक्रमित हुए मरीजों की संख्या बढ़कर 101 पहुंच गई। राज्य में तीन नए मामले सामने आए हैं।

कोरोना वायरस के इस समय देशभर में 446 एक्टिव मामले हैं। इसके अलावा 37 लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं, अब तक 9 मौतें हुई हैं।

दिल्ली में अब तक सामने आए कोरोना संक्रमित 26 लोगों में एक विदेशी नागरिक भी शामिल है। इसके अलावा एक मरीज की मौत हो चुकी है। इनमें चार मरीज राजस्थान, पश्चिम बंगाल और पंजाब के मूल निवासी हैं। वहीं, अच्छी खबर यह है कि दिल्ली में पांच मरीजों को ठीक कर घर भेजा जा चुका है। 

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के मुताबिक, सोमवार की रात तक इस वायरस से कुल 471 लोग पॉजिटिव पाए गए, जबकि पिछले 24 घंटे के दौरान 75 नए मामले सामने आए हैं। सोमवार (23 मार्च) को दो लोगों की कोरोना के चलते मौत हुई है, जिनमें एक पश्चिम बंगाल और एक हिमाचल प्रदेश से है। जैसे ही सभी बड़े राज्यों से इन्फेक्शन की रिपोर्ट आई, केन्द्र सरकार ने प्रतिबंधों को और कड़ा करते हुए घरेलू उड़ानों पर रोक लगा दी और नियम तोड़ने वालों को सख्त चेतावनी दी।