दिल्ली के चुनावी रण में आम आदमी पार्टी एक बार फिर विजेता बनकर उभरी है. अरविंद केजरीवाल की अगुवाई में AAP ने लगातार दूसरी बार इतिहास रचा है और विरोधियों को जीत की आंधी में उड़ा दिया. मंगलवार को दिल्ली विधानसभा चुनाव के आए नतीजों में AAP ने 70 में से 62 सीटें जीती हैं, जबकि भाजपा सिर्फ 8 सीटों पर सिमट गई. 2015 की तरह इस बार भी कांग्रेस शून्य पर रही. जीत के जश्न में आज क्या-क्या होगा,
दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया आज दोपहर एक बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे. मनीष सिसोदिया इस दौरान शपथ की तारीख, समय के बारे में जानकारी देंगे.
अरविंद केजरीवाल आज सुबह उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात करेंगे. चुनावी जीत के बाद अनिल बैजल से ये पहली औपचारिक मुलाकात होगी. उपराज्यपाल से मिलने के बाद अरविंद केजरीवाल के घर पर एक बैठक होगी, जिसमें उन्हें विधायक दल का नेता चुना जाएगा.
चुनाव के दौरान लगातार बड़ी जीत का दावा कर रही भारतीय जनता पार्टी इस बार दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू पाई. लगातार दूसरी बार भाजपा सिंगल डिजिट के आंकड़े में थम गई है. बीजेपी को सिर्फ 8 सीटों पर जीत मिली. अब पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा आज शाम को पांच बजे बैठक करेंगे, जिसमें हार पर मंथन होगा. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने चुनाव से पहले 48 सीटें जीतने का दावा किया था.
जीत के बाद अब सरकार गठन को लेकर तैयारियां शुरू हो गई हैं. बुधवार को अरविंद केजरीवाल अपने कार्यकर्ताओं के साथ और साथी नेताओं के साथ बैठक करेंगे. इस बैठक में कैबिनेट की तस्वीर, शपथ की तारीख तय होगी. पिछली सरकार में मंत्री रहे सभी नेता इस बार भी जीते हैं, जबकि कुछ नए चेहरों ने भी विजय हासिल की है. सुबह 11.30 बजे अरविंद केजरीवाल के घर पर बड़े नेता पहुंचेंगे.
2013, 2015 और अब 2020 अरविंद केजरीवाल तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के लिए तैयार हैं. पानी, बिजली, विकास के नाम पर चुनाव लड़ने वाली आम आदमी पार्टी दिल्ली के किले में सबसे बड़ी पार्टी बनी. नई दिल्ली विधानसभा सीट से अरविंद केजरीवाल ने भी बड़ी जीत हासिल की. हालांकि, इस बार AAP की सीटों में कुछ गिरावट आई है. 2015 में AAP 67 पर थी, लेकिन इस बार 62 पर आ गई है.