मुंबई । रिलायंस इंडस्ट्रीज के मार्केट कैप ने 9.5 लाख करोड़ के निशान को छूआ है। मुकेश अंबानी की कंपनी यह मुकाम हासिल करने वाली पहली भारतीय कंपनी है। मंगलवार को रिलायंस के शेयर 3.3 फीसदी की तेजी के साथ 1,506.75 पर पहुंच गए जो कि एक नया रिकॉर्ड है। पिछले महीने जब आरआईएल ने 9 लाख करोड़ के मार्केट कैप का आंकड़ा छुआ था। दोपहर में सेंसेक्स 180 पॉइंट की वृद्धि के साथ कारोबार कर रहा था। पिछले महीने आरआईएल ने घोषणा की थी कि कंपनी एक नई सब्सीडरी शुरू करेगी जिसके तहत डिजिटल इनिशिएटिव और एप का कोरबार आएगा। इसमें 1.08 लाख करोड़  लगाने की योजना है। यह नई इकाई भारत में सबसे ज्यादा डिजिटल सर्विस देने वाली कंपनी होगी। यह नई एंटिटी टेक्नॉलाजी, हेल्थकेयर, एजुकेशन के क्षेत्र का काम करने के साथ अगली पीढ़ी की जरूरतों को भी ध्यान में रखा जाएगा। इसमें आर्टिफिशल इंटेलिजेंस, ब्लॉकचेन शामिल है। जानकारों के मुताबिक इस नए प्लैटफॉर्म की तरफ निवेशकों का भी आकर्षण होगा। बैंक ऑफ अमेरिका के मेरिल लिंच के मुताबिक रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड अगले दो साल में 200 अरब डॉलर की कंपनी हो सकती है। जानकारों का मानना है कि कंपनी इस लक्ष्य को नए कॉमर्स वेंचर, ब्रॉडबैंड ऑपरेशन और डिजिटल वेंचर के माध्यम से हासिल किया जा सकता है।