मुंबई,वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा कॉर्पोरेट टैक्स में कटौती के कदम का शेयर बाजार ने जोरदार स्वागत किया है। कारोबारी सत्र के पहले दिन सोमवार को शेयर बाजार में बेहद बड़ा उछाल देखने को मिला है। बीएसई के 30 कंपनियों के शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 1075.41 अंकों (2.83%) की तेजी के साथ 39,090.03 पर बंद हुआ। वहीं, नैशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 कंपनियों के शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 329.20 अंक (2.92%) उछलकर 11,603.40 पर बंद हुआ।

दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 39,441.12 का ऊपरी स्तर तथा 38,674.04 का निचला स्तर छुआ, जबकि निफ्टी ने 11,694.85 का उच्च स्तर तथा 11,471.35 का निम्न स्तर छुआ। बीएसई पर 16 कंपनियों के शेयर हरे निशान पर तो 14 कंपनियों के शेयर लाल निशान पर बंद हुए। वहीं, एनएसई पर 32 कंपनियों के शेयरों में लिवाली तथा 18 कंपनियों के शेयरों में बिकवाली दर्ज की गई।

1. कॉर्पोरेट टैक्स में कटौती
सोमवार को बाजार में आई बड़ी रैली के पीछे सबसे बड़ा योगदान कॉर्पोरेट टैक्स में कटौती का रहा। केंद्र सरकार ने अर्थव्यवस्था में आई सुस्ती से निपटने के लिए कॉर्पोरेट टैक्स को 30 फीसदी से घटाकर 22 फीसदी कर दिया है, जबकि नई कंपनियों के लिए कॉर्पोरेट टैक्स को 25 फीसदी से घटाकर 15 फीसदी कर दिया है।

2. जीएसटी काउंसिल का फैसला
खपत को बढ़ावा देने के उद्देश्य से शुक्रवार को जीएसटी काउंसिल में अपनी बैठक के दौरान कई वस्तुओं और सेवाओं पर लगने वाली जीएसटी दरों में कमी की है। इसका सबसे बड़ा फायदा हॉस्पिटेलिटी तथा टूरिज्म इंडस्ट्री को मिलेगा, जिसपर लगने वाले कर को 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी कर दिया गया है। 999 रुपये से कम चार्ज वाले कमरों पर जीएसटी नहीं लगेगा, जबकि 1,000 रुपये से लेकर 7,499 रुपये तक के किराये वाले कमरों पर 12 फीसदी तथा 7,500 रुपये से ऊपर के किराये वाले कमरों पर 18 फीसदी जीएसटी दर लागू होगा।

3. अमेरिका-चीन ट्रेड वॉर
ट्रेड वॉर को लेकर अमेरिका तथा चीन के बीच वार्ता के सही दिशा में आगे बढ़ने का भी शेयर बाजार को फायदा मिला। यूएस ट्रेड रिप्रेजेंटेटिव ऑफिस ने एक संक्षिप्त बयान जारी कर कहा है कि चीन के साथ दो दिनों की वार्ता 'उत्पादक' रही है। बयान में वार्ता को 'रचनात्मक' बताया गया और कहा कि अक्टूबर में होने वाली उच्चस्तरीय वार्ता के विस्तृत प्रक्रिया को लेकर अच्छी बातचीत हुई।