इन्दौर । अग्रसेन महासभा के तत्वावधान में मात्र 1 लाख 51 हजार रू. में समाज के जरूरतमंद बंधुओं के परिजनों के लिए शाही शादी की योजना लागू की गई है। हाल ही इस योजना में शुक्रवार को देवास एवं हरिद्वार की दो बेटियों के विवाह धूमधाम से संपन्न किए गए। महासभा द्वारा इस योजना एवं मांगलिक भवन के विस्तार की योजना भी बनाई गई है। समाज की किसी जरूरतमंद बेटी का विवाह महासभा के सदस्य आपस में सहयोग कर संपन्न कराने के लिए भी तैयार हैं।
योजना के प्रमुख संयोजक प्रकाश सिंघल एवं मांगलिक भवन संचालन समिति के अध्यक्ष मोहनलाल बंसल ने बताया कि मात्र एक लाख इक्यावन हजार की धनराशि में वर-वधू पक्ष के लिए शाही शादी की यह अभिनव योजना दिनों दिन लोकप्रिय हो रही है। हाल ही देवास की पल्लवी एवं इंदौर के रीतेश तथा हरिद्वार की आशी एवं इंदौर के रूपेश के विवाह यहां संपन्न हुए। यहां की व्यवस्थाएं देखकर वर-वधू पक्ष के मेहमान काफी  प्रसन्न हुए। समाजसेवी विनोद अग्रवाल, प्रेमचंद गोयल, पी.डी. अग्रवाल कान्ट्रेक्टर, कैलाश नारायण बंसल, एस.एन. गोयल समाधान, विनोद सिंघानिया, अरूण आष्टावाले, पूर्व अध्यक्ष राजेश बंसल पंप, अध्यक्ष पवन सिंघल, सचिव श्याम गोयल, सीए एस.एन. गोयल सहित महासभा के अनेक पदाधिकारियों ने स्वयं उपस्थित होकर नवयुगलों को आशीर्वाद प्रदान किए। महासभा के मांगलिक भवन में होने वाले इस शाही विवाह में बैंड-बाजे, घोड़ी, छतर, फोटो, वीडियोग्राफी, काजू-बादाम एवं मखाने से बारात के स्वागत, वेलकम ड्रिंक के साथ रिसेप्शन हॉल, दस एसी कमरे, 8 सोफा, 100 चेयर्स, माइक सिस्टम, स्टेज सजावट, वर-वधू के नाम के बैनर तथा 100 व्यक्तियों के लिए सुबह का नाश्ता, 250 व्यक्तियों के लिए दोपहर का भोजन (21 आयटम) तथा शाम को डेढ़ सौ मेहमानों के लिए हाईटी आदि सुविधाएं शामिल हैं।
मांगलिक भवन समिति के अभय मित्तल, संयोजक राजेश अग्रवाल एवं अजय अग्रवाल ने बताया कि जल्द ही मांगलिक भवन पर जन्मदिन एवं अन्य मांगलिक प्रसंगों के लिए भी इसी तरह की व्यवस्था लागू करने पर विचार किया जा रहा है। इसके लिए मौजूदा भवन में दो बड़े वातानुकूलित सभागृह, एक छोटा एसी सभागृह, पार्किंग, कैफेटेरिया सहित नए निर्माण कार्य भी प्रस्तावित है। शहर एवं बाहर से आने वाले मेहमानों के लिए यह भवन न्यूनतम शुल्क पर उपलब्ध रहेगा। इस अवसर पर रसभारती के अध्यक्ष अजय मोतीलाल अग्रवाल, केंद्रीय समिति के पूर्व अध्यक्ष किशोर गोयल, संजय बांकड़ा सहित अनेक प्रतिष्ठित बंधुओं ने नवयुगलों को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए महासभा के इस अभिनव प्रयास की खुले मन से प्रशंसा की।