भोपाल, मध्यप्रदेश के तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके शिवराज सिंह चौहान को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले मंत्रिमंडल में एक प्रमुख सदस्य के रूप में शामिल किया जा सकता है और उन्हें कृषि मंत्रालय का प्रभार दिया जा सकता है. किसान से राजनेता बने शिवराज को विधानसभा चुनावों में भाजपा को लगातार जीत दिलाने का श्रेय जाता है. हालांकि पिछले वर्ष हुए विधानसभा चुनाव में पार्टी कांग्रेस से मामूली अंतर से हार गई थी. 

तब से राजनीतिक गलियारों में केंद्रीय स्तर पर चौहान की भूमिका को लेकर चर्चा हो रही है. उन्होंने हाल में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में एक बार फिर अपना प्रभाव छोड़ा है. मध्य प्रदेश में भाजपा ने 29 में से 28 सीटों पर जीत दर्ज कराई है. शिवराज सिंह चौहान द्वारा शुरू की गईं विभिन्न कृषि योजनाओं की सफलता के कारण वह उन्हें नए विचारों के साथ केंद्रीय स्तर पर लागू कर सकते हैं. भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, "कृषि विभाग शिवराज सिंह चौहान को दिया जा सकता है."
इस साल के शुरुआत में उन्हें राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नियुक्त कर भाजपा ने एक स्पष्ट संकेत दे दिया था कि चौहान नरेंद्र मोदी की टीम में एक प्रमुख भूमिका निभाएंगे. बता दें 30 मई को होने वाले शपथग्रहण समारोह में नरेंद्र मोदी प्रधानंत्री के तौर पर दूसरी बार शपथ लेने जा रहे हैं. वहीं अभी तक इस बात का खुलासा नहीं किया गया है कि मोदी कैबिनेट में किन नेताओं को जगह दी गई है और वह कौन से नेता होंगे जो आज के शपथ ग्रहण समारोह में शपथ लेंगे