यहां मतदान की लाइन में खड़ी महिला की मौत, प्रदेश में अब तक 60 फीसदी से अधिक वोटिंग
भोपाल। मध्‍य प्रदेश में लोकसभा चुनाव के आखिरी दौर में कड़ी धूप के बावजूद मतदाताओं ने मतदान के पिछले रिकॉर्ड तोड़ दिए। देवास, उज्जैन, मंदसौर, रतलाम, धार, इंदौर, खरगोन और खंडवा में 2009 में 56.44 और 2014 के 66.87 के मुकाबले इस बार 70 फीसदी मतदान हुआ। सर्वाधिक 75.06 प्रतिशत मतदान देवास लोकसभा क्षेत्र में हुआ। वहीं, इंदौर में 64.35 फीसदी मतदाताओं ने ही मतदान किया, जो चौथे चरण की आठों सीटों में सबसे कम रहा। देर रात तक मतदान के प्रतिशत में बदलाव की संभावना जताई गई है।

मतदान के दौरान रतलाम के सैलाना विधानसभा की चंदोरा निवासी 58 वर्षीय गेंद बाई का मतदान की लाइन में खड़े रहने के दौरान हार्टअटैक से निधन हो गया। वहीं, शाजापुर में पीठासीन अधिकारी अनिल नेमा और कुक्षी में बीएलओ गारू सिंह चोगड़ का हार्टअटैक से निधन हो गया।
मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने बताया कि अभी तक 70 फीसदी मतदान हो चुका है। मतदान केंद्रों में लंबी लाइनें लगी हैं। मतदान प्रतिशत में वृद्धि होगी। मतदान की जो गति शुरुआत में रही, वह दोपहर में कुछ धीमी पड़ी, लेकिन शाम होते-होते इसमें तेजी आ गई।

मतदान के दौरान कहीं से भी हिंसक घटना की सूचना नहीं मिली। छह-सात जगह चुनाव बहिष्कार की सूचनाएं थीं। प्रशासनिक अमले ने मतदाताओं को मताधिकार का इस्तेमाल करने की समझाइश दी, इसके बाद मतदान हुआ। मंदसौर संसदीय क्षेत्र की सुवासरा विधानसभा के पिछला गांव मतदान केंद्र में सिर्फ चार वोट डाले गए।
खंडवा के खडकी गांव में महज आठ मतदाताओं ने मताधिकार का उपयोग किया। कुछ जगह मतदाताओं द्वारा मतदान की गोपनीयता भंग करने की शिकायतें भी मिली हैं। ऐसे मतदाताओं की शिनाख्त होने पर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। 
414 मतदान केंद्रों की 556 मशीनें हुईं खराब
चौथे चरण के लोकसभा चुनाव की आठ सीटों में 414 मतदान केंद्रों में ईवीएम और वीवीपैट में खराबी आई। मॉकपोल और मतदान के दौरान 556 मशीनों को बदलकर मतदान कराया गया। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि यह चुनाव में उपयोग की गई कुल मशीनों का एक फीसदी से भी कम है। 

कई मतदान केंद्रों में दो घंटे तक बाधित रहा मतदान
ईवीएम खराब होने से इंदौर सहित अन्य संसदीय क्षेत्रों में मतदान प्रभावित हुआ। इंदौर के सांवरिया मतदान केंद्र में दो घंटे तक लोग मतदान का इंतजार करते रहे। इसी तरह कुछ अन्य जगह भी विलंब हुआ।

अंतिम संस्कार, विवाह कर और व्हीलचेयर पर आकर किया मतदान
मतदान के प्रति मतदाताओं में जोश और जिम्मेदारियों का भाव इस कदर रहा कि इंदौर में एक परिवार ने अंतिम संस्कार करने के बाद मतदान किया। वहीं, विवाह समारोह के बाद दूल्हा-दुल्हन मतदान करने पहुंचे। बीमार होने से इंदौर के विजयनगर में एक मतदाता ने व्हीलचेयर पर पहुंचकर मतदान किया। 

कहां कितना हुआ मतदान

सीट--मतदान प्रतिशत (2014-2019)

देवास--70.22--75.06

उज्जैन--66.56--67.53

मंदसौर--71.24--73.01

रतलाम--63.52--69.18

धार--63.96--67.18

इंदौर--62.25--64.35

खरगोन--67.07--71.05

खंडवा--70.93--71.57

नोट:- आंकड़े मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के मुताबिक शाम सात बजे तक के हैं।